Ranthambore national park kahan hai | रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान कहा है?

नमस्कार दोस्तों, देश के प्रमुख राष्ट्रीय उद्यानों की श्रंखला में आज हम आपको (Ranthambore national park kahan hai) इस लेख के माध्यम से लेकर चलते हैं, भारत के ऐतिहासिक राज्य एवं पर्यटन के क्षेत्र में देश में प्रथम स्थान रखने वाले राज्य राजस्थान मे।

रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान राजस्थान राज्य की सवाई माधोपुर नामक जिले में स्थित है। यह राष्ट्रीय उद्यान भारत के प्रमुख टाइगर रिजर्व क्षेत्रों में सम्मिलित है। यहां पर भारत का राष्ट्रीय पशु बाघ स्वतंत्रता पूर्वक विचरण करते हुए नजर आते हैं। यह राष्ट्रीय उद्यान पर्यटकों को अपनी ओर इतना आकर्षित करता है कि राजस्थान आने वाला प्रत्येक पर्यटक टाइगर रिजर्व का भ्रमण अवश्य करता है। आइए हम विस्तार पूर्वक चर्चा करते हैं रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान के बारे में । रणथंबोर नेशनल पार्क के बारे में प्रमुख जानकारियां निम्नलिखित हैं जो कि आपके लिए बहुत ही उपयोगी साबित होंगी।

Table

रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान – Ranthambore national park

रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान राजस्थान के दक्षिणी पूर्वी क्षेत्र मैं स्थित है। राजस्थान की राजधानी जयपुर से लगभग 200 किलोमीटर दक्षिण पूरब मैं स्थित जिला सवाई माधोपुर में यह राष्ट्रीय उद्यान स्थित है। रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान 1334 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है इस राष्ट्रीय उद्यान के अंदर ही रणथंभौर नामक किला जो कि राजस्थान के प्रमुख किलो में सम्मिलित है। यह राष्ट्रीय उद्यान अपनी प्राकृतिक सुंदरता तथा बाघों के संरक्षण के लिए प्रसिद्ध है ।

रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान का इतिहास – History of Ranthambore National Park

भारत सरकार द्वारा रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान को सर्वप्रथम एक खेल अभयारण्य के तौर पर सन 1955 में विकसित किया गया। कुछ समय पश्चात वर्ष 1973 में इस राष्ट्रीय उद्यान को टाइगर रिजर्व की श्रेणी में रखा गया। तथा 1 नवंबर वर्ष 1980 को इस अभयारण्य को राष्ट्रीय उद्यान का दर्जा दिया गया ।

रणथंबोर राष्ट्रीय उद्यान जिस क्षेत्र में स्थित है वहां पर दो पहाड़ियां जिनका नाम रण एवं थंभ होणे के कारण ही इस क्षेत्र का नाम रणथंभौर पड़ा ।

रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान में पाए जाने वाले जीव जंतु और उनकी प्रजातियां – Ranthambore national park animals

इस वन्यजीव अभयारण्य में अनेकों प्रकार के जीव जंतु निवास करते हैं जिनमें मुख्य रुप से नीलगाय, सांवर, घड़ियाल ,रॉयल बंगाल टाइगर ,मकाक, काले हिरण, चिंकारा, लंगूर, इंडियन फॉक्स, इंडियन फ्लाइंग फॉक्स, मार्स मगरमच्छ ,सरीसृप, कोबरा ,आलसी भालू, चीता, हिरण, शीतल, अनेकों प्रकार के कबूतर, हनुमान लंगूर ,कैराकल इत्यादि प्रमुख है इस राष्ट्रीय उद्यान में लगभग 35 प्रकार की सरी सर्पों की प्रजाति तथा 320 से अधिक पक्षियों की प्रजातियां निवास करती है जो कि आने वाले पर्यटक के मन को लुभाती है

रणथंभौर टाइगर रिजर्व – Ranthambore national park tiger reserve

राष्ट्रीय उद्यान के एक भाग में रणथंबोर टाइगर रिजर्व नाम से एक टाइगर प्रोजेक्ट चलाया जा रहा है जहां पर रॉयल बंगाल टाइगर रोको भ्रमण करते हुए आसानी से देखा जा सकता है किस टाइगर रिजर्व के कुछ क्षेत्र को भ्रमण के लिए निश्चित कर रखा है क्योंकि वहां पर टाइगर के हमले का भय रहता है रणथंबोर राष्ट्रीय उद्यान आने वाला प्रत्येक पर्यटक इस टाइगर रिजर्व का भ्रमण करता है यह टाइगर रिजर्व भारत के प्रमुखों टाइगर रिजर्व ओं की सूची में सम्मिलित है राष्ट्रीय उद्यान की मछली नाम की बाघिन अपनी फुर्ती तथा ताकत के लिए भारतवर्ष में प्रसिद्ध है

रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान के पर्यटक स्थल – Ranthambore national park tourist place

रणथंबोर नेशनल पार्क के अंदर ही अनेकों पर्यटक स्थल हैं जो कि पर्यटन की दृष्टि से अपनी विशिष्ट पहचान रखते हैं इनमें प्रमुख रूप से रणथंबोर दुर्ग, त्रिनेत्र गणेश मंदिर, पदम तालाब, रणथंबोर टाइगर रिजर्व, राजबग, कशीदा घाटी इत्यादि प्रमुख पर्यटक स्थल है यह भारत का एक विशिष्ट राष्ट्रीय उद्यान है जिसके अंतर्गत एक ऐतिहासिक किला स्थित है रणथंबोर दुर्ग जो कि अपनी ऐतिहासिक विरासत को समेटे हुए राजा हम्मीर देव की याद दिलाता है यह दुर्ग अपनी विशालता एवं सुरक्षा की दृष्टि से मजबूती के कारण संपूर्ण विश्व भर में प्रसिद्ध है।

यदि आप इस राष्ट्रीय उद्यान के भ्रमण हेतु आते हैं तो हम आपको यहां ठहरने, पहुंचने तथा पर्यटन से संबंधित अन्य सभी जानकारियां आपको बताते हैं । यह जानकारी अवश्य ही आपके लिए सहायक सिद्ध होगी ।

A) रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान के पास होटल एव रेस्टोरेंट – Ranthambore national park hotel and restorents

रणथंबोर राष्ट्रीय उद्यान क्षेत्र में आपको ठहरने के लिए तथा खाने के लिए अनेक होटल तथा रेस्टोरेंट्स उपलब्ध है हम आपको राष्ट्रीय उद्यान क्षेत्र तथा उसके आसपास स्थित कुछ होटल तथा रेस्टोरेंट की जानकारी यहां साझा कर रहे हैं।

१. ओम रूद्र प्रिय हॉलीडे रिजॉर्ट

२. होटल सवाई विलास रणथंबोर सवाई माधोपुर

३. राज महल रिजॉर्ट

४. टाइगर डेन रिजॉर्ट

उपरोक्त सभी होटल तथा रेस्टोरेंट रणथंबोर राष्ट्रीय उद्यान क्षेत्र के आसपास तथा उद्यान क्षेत्र में स्थित हैं जहां आपको खाने तथा रहने की उच्च कोटि की व्यवस्था उपलब्ध होगी ।

B) रणथंबोर राष्ट्रीय उद्यान सफारी – Ranthambore national park safari

राष्ट्रीय उद्यान के भ्रमण के लिए आपको सफारी का आनंद भी मिलेगा हालांकि सफारी का आनंद लेने के लिए आपको कीमत अदा करनी होती है रणथंबोर नेशनल पार्क में सफारी दो प्रकार की होती है जो की जीप तथा कैंटर के माध्यम से की जाती है जीप 20 सीटर उपलब्ध होगी तथा कैंटर 6 सीटर सफारी होती है सफारी की बुकिंग हेतु आपको लगभग 90 दिन पहले बुक करना होगा हालांकि आप कुछ घंटे पहले भी सफारी बुकिंग कर सकते हैं किंतु आपको असुविधा का सामना भी करना पड़ सकता है इसलिए समय से पूर्व ही आप सफारी बुकिंग करें जिससे कि आपको कोई परेशानी नहीं हो राष्ट्रीय उद्यान क्षेत्र में सफारी 3 घंटे तक चलती है जिसका समय प्रातः 7:00 से 10:30 तक तथा शाम को 2:30 से 6:00 बजे तक है

C) रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान भ्रमण का सही समय – Best time to visit the Ranthambore National Park

इस पर्यटन स्थल के भ्रमण का सही समय अक्टूबर से जून के मध्य का समय है क्योंकि इस समय तापमान अधिक नहीं होता है जिससे कि भ्रमण में किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ता है तथा आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जुलाई से सितंबर तक इसके कुछ क्षेत्र मैं प्रवेश को निषेध कर दिया जाता है क्योंकि उस समय बारिश की अधिकता के कारण यहां यात्रियों को भ्रमण की अनुमति प्रदान नहीं की जाती।

D) रणथंभौर नेशनल पार्क कैसे पहुंचे – How to reach Ranthambore National Park

अब हम आपको बताते हैं की रणथंबोर नेशनल पार्क किस प्रकार पहुंचा जाए ।

वायु परिवहन – Air transportation

यदि आप हवाई जहाज के माध्यम से रणथंभौर की यात्रा करना चाहते हैं तो आपको सांगानेर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा जयपुर की फ्लाइट पकड़नी होगी जो कि कि रणथंबोर राष्ट्रीय उद्यान से 200 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है यह हवाई अड्डा जयपुर शहर में स्थित है

रेल परिवहन – Rail transport

रेल परिवहन के माध्यम से यहां पहुंचने के लिए आपको किसी भी प्रकार की असुविधा का सामना नहीं करना पड़ेगा क्योंकि पश्चिम मध्य रेलवे का प्रमुख रेलवे स्टेशन सवाई माधोपुर यहां से केवल 14 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है जो कि देश के लगभग प्रत्येक शहर से रेल परिवहन के माध्यम से जुड़ा हुआ है तथा अन्य रेलवे स्टेशनों में जयपुर तथा कोटा इस राष्ट्रीय उद्यान क्षेत्र के नजदीक स्थित है ।

सड़क परिवहन – Road transport

यदि आप सड़क परिवहन के माध्यम से यात्रा करना चाहते हैं तो हम आपको बता दें कि यह राष्ट्रीय उद्यान राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 8 तथा 11A के माध्यम से दिल्ली शहर से जुड़ा हुआ है तथा राजमार्ग संख्या 24 के माध्यम से जयपुर शहर से जुड़ा हुआ है जिसके माध्यम से आप आसानी से इस राष्ट्रीय उद्यान क्षेत्र में पहुंच सकते हैं

आशा करते हैं कि (Ranthambore national park kahan hai) इस लेख कि जानकारी आपको अच्छी लगी होगी तथा आपके भ्रमण के लिए सहायक सिद्ध होगी अन्य किसी पर्यटन स्थल की जानकारी प्राप्त करने के लिए कमेंट बॉक्स में अपने विचार रखें।

आप ये भी पढ सकते है…

१) पपीकोंडा नेशनल पार्क.

Leave a Comment