काजीरंगा नेशनल पार्क कहां स्थित है | Kaziranga national park Kahan sthit hai

नमस्कार दोस्तों, प्रकृति और पर्यटन की दुनिया में आपका फिर से स्वागत है। आज हम आपको लेके चलते हैं संपूर्ण विश्व भर में प्रसिद्ध एक ऐसे वन्य जीव अभ्यारण और राष्ट्रीय उद्यान के बारे में जो कि संपूर्ण विश्व में ख्याति प्राप्त है। जी हां हम बात कर रहे हैं भारत के पूर्वोत्तर राज्य आसाम में स्थित काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान के बारे में। एक सींग वाले गेंड के लिए विश्व भर में प्रसिद्ध यह वन्यजीव अभयारण्य भारत के असम प्रांत में स्थित है। आसाम राज्य अपने चाय के बागानों के लिए ब्रिटिश औपनिवेशिक काल से ही विश्व भर में प्रसिद्ध है। तथा काजीरंगा नेशनल पार्क आसाम राज्य को पर्यटन के क्षेत्र में तथा वन्य जीव संरक्षण के क्षेत्र में भी आगे रखता है। आईए जानते हैं काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान के बारे में …

काझीरंगा नॅशनल पार्क:

1.काझीरंगा नॅशनल पार्क कहां स्थित है:

काजीरंगा नेशनल पार्क भारत के असम राज्य के गोलाघाट एवं नागांव जिले के क्षेत्र में स्थित है। आसाम भारत के पूर्वोत्तर राज्यों में आता है। ये अभ्यारण्य आसाम को एक विशेष पहचान दिलाता है।

2.काझीरंगा नॅशनल पार्क का इतिहास:

काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान की स्थापना को लेकर समय-समय पर अनेक परिवर्तन किए गए जो निम्न प्रकार हैं।सर्वप्रथम 1 जून 1905 को काजीरंगा प्रस्तावित रिजर्व फॉरेस्ट बनाया गया। तथा बाद में 1908 में क्षेत्र को काजीरंगा रिजर्व फॉरेस्ट के नाम से विकसित किया गया। 8 वर्ष पश्चात ही 1916 में इसका नाम काजीरंगा गेम रिजर्व कर दिया गया, किंतु वर्ष 1950 में स्कोर काजीरंगा वन्यजीव अभयारण्य के नाम से स्थापित किया गया वर्ष 1968 में, असम सरकार द्वारा इसे राष्ट्रीय उद्यान का दर्जा दिया गया तथा वर्ष 1974 में भारत सरकार के द्वारा आधिकारिक रूप से इसे काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान के रूप में स्थापित किया आपको यह जानकर हर्ष होगा की, वर्ष 1985 में यूनेस्को द्वारा काजीरंगा नेशनल पार्क को विश्व धरोहर सूची में शामिल किया गया है।

3.काझीरंगा नॅशनल पार्क में पाई जाने वाली प्रजातियां:

काजीरंगा नेशनल पार्क वैसे तो मुख्य रूप से एक सींग वाले गैंडे के लिए प्रसिद्ध है। किंतु इस विशाल राष्ट्रीय उद्यान में केवल एक सींग वाले गैंडे ही नहीं बल्कि वन्यजीवों की 35 से अधिक प्रजातियां निवास करती हैं। जिनमें आज लगभग 17 प्रजातियां विलुप्त होने की कगार पर है। वन्यजीव अभयारण्य में पाई जाने वाली प्रमुख प्रजातियां जन में मुख्य रूप से एक सींग वाले गैंडे, नीलगाय, जंगली सूअर, आलसी भालू, हिरण, जंगली बिल्ली, जंगली सांभर ,एशियाई हाथी, जंगली जल भैंस, बंगाल टाइगर, भारतीय मोंटजैक ,गोल्डन सियार इत्यादि प्रमुख है।

4. काजीरंगा नेशनल पार्क की वनस्पति:

काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान में उष्णकटिबंधीय सदाबहार वन बाली वनस्पति पाई जाती है। ब्रह्मपुत्र नदी का क्षेत्र होने के कारण यहां पर अनेकों प्रकार की जलीय वनस्पति इस उद्यान में देखी जा सकती है। काजीरंगा नेशनल पार्क में अनेकों प्रकार की घास जिनमें मुख्य रुप से लंबी एवं छोटी घास प्रमुख है। यहां पाए जाने वाले पेड़ पौधे सदाबहार होते हैं। ब्रह्मपुत्र नदी होने के कारण यह क्षेत्र हमेशा हरा-भरा बना रहता है, तथा जल की कोई भी कमी नहीं होती। मानसून आने पर ब्रह्मपुत्र नदी में बाढ़ आने के कारण नेशनल पार्क के क्षेत्र में पानी का आगमन अत्यधिक मात्रा में होने लगता है।

5. काजीरंगा नेशनल पार्क की प्रमुख सफारी:

यहां की हाथी सफारी एवं जीप सफारी पर्यटकों के मन को बहुत भाती है। यहां आने वाला प्रत्येक पर्यटक यहां की हाथी सफारी करना जरूर पसंद करता है। राष्ट्रीय उद्यान में हाथी सफारी का समय प्रातः 5:30 बजे से प्रारंभ होकर शाम 3:30 बजे तक चलता है इसके बाद यह उडान पर्यटकों के लिए बंद कर दिया जाता है। काजीरंगा नेशनल पार्क के भ्रमण हेतु पर्यटकों को राष्ट्रीय उद्यान के अंदर जीप सफारी एवं एसयूवी कार भी उपलब्ध होती हैं। जिसके माध्यम से पर्यटक अभयारण्य का भ्रमण कर सकते हैं।

6. काजीरंगा नेशनल पार्क घूमने का सही समय:

यदि आप काजीरंगा नेशनल पार्क के भ्रमण हेतु जाना चाहते हैं तो, आपके लिए नवंबर से मार्च या अप्रैल तक का समय उपयुक्त है। क्योंकि इस समय के दौरान काजीरंगा नेशनल पार्क में जंगली जानवरों को बड़ी आसानी से देखा जा सकता है। तथा इस समय में वहां का मौसम एवं अभयारण्य की सुंदरता देखते ही बनती है। इसलिए यदि आप काजीरंगा नेशनल पार्क घूमना चाहते हो तो नवंबर से अप्रैल तक के समय में कभी भी यहां घूमने आ सकते हो। वैसे किसी भी समय यहां आने पर कोई पाबंदी नहीं है। आप साल के 12 महीने यहां आ सकते हो, किंतु मौसम एवं सुंदरता को देखते हुए नवंबर से अप्रैल तक का समय ज्यादा उपयुक्त होता है।

7.काझीरंगा नॅशनल पार्क कैसे पहुंचे:

अब हम आपको बताते हैं कि देश के विभिन्न हिस्सों से काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान में कैसे पहुंचा जा सकता है। काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान पहुंचने के लिए वायु परिवहन रेल परिवहन तथा सड़क परिवहन के माध्यम से आसानी से आया जा सकता है।

रेल परिवहन – Rail transport

निकटतम रेलवे स्टेशन – फुरकेटिंग रेलवे स्टेशन जो की यहां से केवल 75 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। गुवाहाटी रेलवे स्टेशन जो की 240 किलोमीटर और जोरहाट केवल 90 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। इन स्टेशन के लिए देश के प्रत्येक हिस्से से आसानी से ट्रेन उपलब्ध हो जाती है।

वायु परिवहन – Air transportation

निकटतम हवाई अड्डा – गुवाहाटी और जोरहाट जो की क्रमशः 217 और 97 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। गुवाहाटी के लिए देश और विदेश के लगभग सभी क्षेत्रों से आसानी से फ्लाइट मिल जाती है।

सड़क परिवहन – Road transport

राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 37 जो की काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान के मुख्य द्वार के सामने होकर गुजरता है। इसके माध्यम से आसानी से काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान पर पहुंचा जा सकता है। तथा सभी निकटवर्ती रेलवे स्टेशन तथा हवाई अड्डों से बस एवं टैक्सी के माध्यम से राष्ट्रीय उद्यान परिसर पहुंचा जा सकता है।

काझीरंगा नॅशनल पार्क के पास स्थित अन्य पर्यटक स्थल:

काजीरंगा नेशनल पार्क के आस पास अनेक पर्यटक स्थल स्थित है जिन का दीदार भी पर्यटक कर सकते हैं जो कि निम्नलिखित हैं।

काकोचांग झरना – Kakochang Waterfall

टी गार्डन काजीरंगा – Tea Garden Kaziranga

काजीरंगा नेशनल ऑर्किड पार्क – Kaziranga National Orchid Park

ओरंग नेशनल पार्क – Orang National Park

आप यह भी पढ सकते हो…

१) रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान कहा है?

२) सुंदरबन नेशनल पार्क कहा है?

Leave a Comment